शब्द और पद किसे कहते हैं?

हैलो दोस्तो आज हम आप लोगो को इस आर्टिकल के माध्यम से शब्द और पद (Shabd aur pad) के बारे में सारी जानकारियां देने वाले है, तोह आइए जानते है ।

शब्द और पद ( Shabd aur pad ) क्या होते हैं ?

एक से अधिक वर्णों के मिलने से जो सार्थक समूह बनता है वह शब्द कहलाता है. हम अपने शब्दों में कह सकते हैं कि शब्द वर्णों के मेल से बनाते हैं. शब्द और पद के बारे में जब हम छोटी क्लास में थे तो तब ही बता दिया जाता था क्योंकि यह व्याकरण का सबसे अच्छा टॉपिक है|

शब्द किसे कहते हैं ?

शब्द मात्राओं और वर्णों के मेल से बनता है. शब्द सार्थक वर्ड समूह या अक्षर समूह होता है शब्द स्वतंत्रता रूप से ही प्रयुक्त होते हैं वर्णों के सार्थक समूह को शब्द कहते हैं जिसका उपयोग हम स्वतंत्र रूप से करते हैं. जैसे की

Serial NoHindi Shabd ke examples
1क + ल + म = कलम
2म + ट + र = मटर
3क + ल = कल
4ग + ज + ब = गजब

जब हम एक से अधिक वर्णों को मिलाकर शब्द बनाते हैं, तोह यह जरूरी नहीं है कि उसे शब्द ही कहा जाए अर्थपूर्ण शब्द होना चाहिए तभी उसे शब्द की परिभाषा दी जाती है.

पद किसे कहते हैं?

जब शब्दों का प्रयोग वाक्य मे व्याकरण के नियमों के अनुसार होता है तब वह पद कहलाता है. सरल शब्दों में समझे तो काल, वचन और लिंग आदि की वर्णों को पद कहा जाता है यानी स्वतंत्र रहने वाला शब्द व्यकणिक संस्कार पाकर पद बन जाता है जैसे.

  • लड़के ने फूल तोड़ा
  • ईश्वर रक्षा करें
  • सीता गाती है

यह वाक्य लड़के, फूल, तोड़ा शब्द से बनाता है लेकिन वाक्य होने पर (लड़के ने फूल तोड़ा) पद बन जाएगा|

credit : Magnet Brains

शब्दों के भेद

हिंदी में जिन शब्दों का उपयोग होता उनके स्रोत अलग-अलग हैं|

  • संस्कृत
  • अंग्रेजी यदि से आए हुए शब्दों से इस वजह से रूप बदल गया
  • उर्दू

शब्दों का वर्गीकरण

हिंदी व्याकरण में शब्दों का वर्गीकरण पांच प्रकार से किया गया है|

  1. उत्पत्ति के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण
  2. मनावट या रचना के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण
  3. प्रयोग के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण
  4. अर्थ के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण
  5. व्याकरणिक के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण

उत्पति के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण

उत्पति के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण इस आधार पर देखा जाता है कि भाषा के अंतर्गत किसी शब्द विशेष का उद्गम कहां से हुआ है हिंदी व्याकरण में शब्दों का वर्गीकरण पांच भागों में बांटा गया है|

Serial No shabd ka vargikaran
1तत्सम शब्द
2तदभव शब्द
3देशज शब्द
4विदेशी शब्द
5संकर शब्द

तत्सम शब्द =संस्कृत के 1 शब्दों को, जी ने उसी रूप में हिंदी में स्वीकार किया है, उन्हें तत्सम शब्द कहते हैं जैसे की

  • अग्नि
  • सूर्य
  • चंद्रमा
  • पितृ
  • माता
  • पुत्र

तद्भव शब्द=संस्कृत के उन शब्दों को जो थोड़े बहुत परिवर्तन के साथ हिंदी में प्रयुक्त होते हैं उन्हें तद्भव शब्द कहते हैं जैसे की

  • सुनार
  • पिता
  • बात
  • मोती
  • दुबला

देशज शब्द=वे शब्द जिनका श्रोता ना हो और वह विदेशी भी ना हो , उन्हें देशज शब्द कहते हैं जैसे-

  • रोटी
  • लकड़ी
  • लोटा
  • टांग
  • पेट

विदेशी शब्द=वे शब्द जो हिंदी में अंग्रेजी , अरबी फारसी, पुर्तगाली, चीनी, फ्रांसीसी आदि भाषाओं से आए हैं उन्हें विदेशी शब्द कहते हैं|

अरबी शब्द के उदाहरण

  • कौन
  • दरवाजा
  • कागज
  • बेगम
  • तकदीर
  • जनाना
  • कानून
  • करामात

ारसी शब्द के उदाहरण

  • खामोश
  • किनारा
  • खुराक
  • जहर
  • आराम
  • आवाज
  • तबाह
  • बीमार

पुर्तगाली शब्द के उदाहरण

  • गोदाम
  • काजू
  • मेज
  • ऑलपिन
  • अलमारी
  • पीपा
  • फीता
  • गमला
  • साबुन

अंग्रेजी शब्द के उदाहरण

  • पार्क
  • राशन
  • सर्कस
  • अफसर
  • टुक
  • हाइड्रोजन

चीनी शब्द के उदाहरण

  • लीची
  • चाय
  • तूफान
  • पटाखा

यूनानी शब्द के उदाहरण

  • टेलीफोन
  • डेल्टा
  • टेलीग्राम
  • एटम

जापानी शब्द के उदाहरण

  • सुनामी
  • सायोनारा
  • रिक्क्षा
  • इस्पात

फ्रांसीसी शब्द के उदाहरण

  • कूपन
  • कारतूस
  • बिगुल
  • कार्टून
  • इंजीनियर
  • इंजन

संकर शब्द=वी शब्द जो दो भिन्न-भिन्न भाषाओं के शब्दों के सार्थक मेल से बने हैं उन्हें संकर शब्द कहते हैं जैसे-रेलगाड़ी-रेल (अंग्रेजी) गाड़ी (हिंदी), ऑपरेशन कक्ष-ऑपरेशन (अंग्रेजी) कक्ष (संस्कृत), किताब घर-किताब (अरबी-फारसी) घर (हिंदी)|

उदाहरण

  • डाकखाना
  • लाठीचार्ज
  • सिनेमाघर
  • माल गोदाम
  • वर्षगांठ
  • जिलाधीश

रचना के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण

रचना के आधार पर यह शब्द तीन प्रकार के होते हैं जो निम्नलिखित है|

रूढ़ शब्द=वे शब्द जो परंपरा से किसी विशेष अर्थ के लिए प्रयोग में लाए जाते हैं तथा अन्य शब्दों के योग सेव नहीं बनते हैं, जिनके खंडों का कोई अर्थ नहीं होता है, उन्हें रूढ़ शब्द कहते हैं. जैसे की-

  • रात
  • दिन
  • पुस्तक
  • घोड़ा

योगिक शब्द किसे कहते है

योगिक शब्द=वे शब्द जो सार्थक खंडों के योग से बनाए जाते हैं उन्हें योगिक शब्द कहते हैं जैसे-

  • विज्ञान ( वि + ज्ञान )
  • विद्यालय (विद्या + आलय)
  • राजकुमार ( राज + कुमार)
  • पितांबर ( पिता + अंबर )

शब्दों को हम उपसर्ग , प्रत्यय के योग से भी बना सकते हैं|

योगरूढ़ शब्द योगिक होते हुए भी जो शब्द किसी विशेष अर्थ का बोध कराते हैं उन्हें योगरूढ़ शब्द कहते हैं जैसे-

  • पंकज अर्थात कमल
  • नीलकंठ अर्थात शिव
  • लंबोदर अर्थात गणेश

प्रयोग के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण

निरर्थक शब्द=जो शब्द अर्थ हीन होते हैं वह सब निरर्थक शब्द कहलाते हैं. यह वह शब्द होता है जो 7 शब्दों के पीछे से उनका अर्थ विस्तार करते हैं|

उदाहरण=

  • लड़का पढ़ने में ठीक है|
  • घर में मत खेलो, कुछ टूट गया तो मार पड़ेगी|

सार्थक शब्द=जिन शब्दों का कुछ न कुछ अर्थ होता है वह शब्द सार्थक शब्द कहलाते हैं|

उदाहरण=

  • कोयल
  • पशु
  • विचित्र

प्रयोग के आधार पर यह तीन प्रकार के होते हैं जो निम्नलिखित हैं|

सामान्य शब्द =जिस शब्द का प्रयोग दिन-प्रतिदिन कार्यों के लिए होता है जो शब्द हम दैनिक जीवन में आम बोलचाल में प्रयोग करते हैं उन्हें सामान्य शब्द कहते हैं जैसे-

  • खाना
  • मकान
  • विद्यालय
  • दूध
  • कमरा

तकनीकी शब्द=जिन शब्दों का संबंध विभिन्न विषयों व्यवसाय और विज्ञान आज से होता है उन्हें तकनीकी शब्द कहते हैं जैसे-

  • कंप्यूटर
  • रसायन
  • रेखाचित्र

अर्ध तकनीकी शब्द =जो शब्द तकनीकी होते हुए भी आम आदमी के जीवन में अधिक प्रचलन के कारण सामान्य लोगों द्वारा प्रयोग किए जाते हैं तकनीकी लोग उन शब्दों का निश्चय अर्थ में प्रयोग करते हैं जबकि साधारण आदमी उन्हें सामान्य रूप की शब्द में प्रयोग करता है जैसे-

  • चुनाव
  • कानून
  • नाटक

अर्थ के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण 

एकार्थी शब्द=जिन शब्दों का अर्थ सदा एक सा रहता है उन्हें एकार्थी शब्द कहते हैं जैसे की

  • प्रधानमंत्री
  • संसद
  • सम्राट
  • राष्ट्रपति

अनेकार्थी शब्द=ऐसे शब्द जिनके एक अधिक अर्थ होते हैं उन्हें अनेकार्थी शब्द कहते हैं जैसे की

  • अर्थ – मतलब ,प्रयोजन ,धन
  • अंबर -आकाश, कपड़ा ,सुगंधित, पदार्थ
  • काल –समय ,अवधि, मौसम
  • काम –कार्य ,मतलब, संबंध ,नौकरी
  • अंक –गिनती के अंक, भाग, नाटक का 1 अध्याय

किन शब्दों को समानार्थी और पर्यायवाची शब्द कहते है

समानार्थी और पर्यायवाची शब्द=जिन शब्दों के अर्थ एक दूसरे के समान होते हैं, उन्हें समानार्थी अथवा पर्यायवाची शब्द कहते हैं. जो निम्नलिखित इस प्रकार है जैसे की

  • उत्तम – उत्कृष्ट, श्रेष्ठ, बढ़िया
  • पंक्षी – पंछी, खग, विहाग
  • शोभा – सौंदर्य, सुंदरता, सुषमा
  • अंबर – आकाश, गगन, नभ
  • हवा – वायु , समीर, अनिल
  • कमल – पंकज, जलज, वारिज
  • घोड़ा – अश्व, हय, वसुधा, धरती

किन शब्दों को विपरीतार्थी अथवा विलोम शब्द कहते है

विपरीतार्थी अथवा विलोम शब्द =जो शब्द परस्पर विपरीत या उल्टा अर्थ देते हैं उन्हें विलोम अथवा विपरीतार्थी शब्द कहते हैं जैसे की

  • अर्थ -अनर्थ
  • घात –प्रतिघात
  • सुख- दुख
  • रात –दिन
  • शयन-जागरण
  • अनुज-अग्रज
  • रक्षक-भक्षक
  • अनुराग -विराग

पद के भेद

पद के भेद इस प्रकार हैं|

  1. संज्ञा पदबंध
  2. विशेषण पदबंध
  3. क्रिया पदबंध
  4. क्रिया विशेषण पदबंध

शब्द और पद में अंतर

Sr No शब्दपद
1वर्णों के स्वतंत्रता और सार्थक को शब्द कहते हैं.वाक्य में प्रयुक्त शब्द को पद कहते हैं
2शब्द का मात्रा अर्थ परिचय के बारे में होता हैपद का मात्रा व्यावहारिक परिचय के बारे में होता है
3सार्थक और निरर्थक दोनों में शब्द होता हैवाक्य के अर्थ को संकेत देने के लिए पति का उपयोग होता है
4लिंग, वचन, क्रिया और कारण से शब्द का किसी भी प्रकार का संबंध नहीं होता है|लिंग, वचन, कारक और क्रिया से पद का संबंध होता है|

शब्द पद कब बन जाता है

जब किसी भी प्रकार का सार्थक शब्द वाक्य मे प्रयुक्त होता है, तब वह पद कहलाता है जब शब्द का प्रयोग वाक्य में होता है तब उसका रूप बदल जाता है. यही कारण है कि वाक्य में प्रयुक्त होने पर शब्द पद बन जाता है|

Conclusion

दोस्तों आज हमने आप सभी लोगों को इस लेख मे Shabd aur padh के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी दी है , जैसे की shabd और pad kise kahate hain , shabd ke vargikaran , shabd ke prakar और भी बोहोत सी जानकारी शब्द और पद से जुड़ी.

तोह हम आशा करते हैं की हमारे द्वारा लिखा हुआ लेख आपको बहुत ही लाभदायक होगा. अधिक से अधिक जानकारी हिंदी व्याकरण में बताई गई है हमारे ब्लॉग पर आपको हिंदी व्याकरण की संपूर्ण जानकारी देता है साथ ही साथ हमें आसान भाषा भी बताता है. हर किसी के अंदर कोई ना कोई गुड होता है बस थोड़ा पता चलने के लिए होती है”|

Increase your Friendship
नमस्कार दोस्तौ मेरा नाम गुलसन है .मे Infoinhindi का Auther हू . मे हिन्दी लेख लिख्ने मे रुचि रखता हू . दोस्तौ मै infoinhindi के माधयम से रोजाना नयी -नयी जानकारीया शेयर करता हू.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here