Kiwi Fruit Farming Business : जाने कीवी की खेती करने का तरीका, आपको बना सकती है लाखों रूपए के मालिक

Kiwi Fruit Farming Business : आज के समय में हमारे भारत में एक बहुत ही खास फल देखने को मिल रहा है। यह फल एक विदेशी फल है जिसका नाम कीवी फल ( Kiwi Fruit ) है। आपको बता दे, इस फल की खेती ( Kiwi Fruit Farming ) के लिए सबसे अनुकूल समय है जनवरी का महीना। कीवी फल स्पेन, फ्रांस, चिली, जापान, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, इटली, अमेरिका और चीन जैसे देशों में सबसे ज्यादा उगाया जाता है। इस संदर्व में बताते चलु की कीवी फल में विटामिन बी और सी अधिक मात्रा में रहती है।

Kiwi Fruit Farming Business :

कीवी फल (Kiwi Fruit) एक विदेशी फल तो है ही लेकिन इस फल से स्वास्थ्य लाभों का भी उपभोग किया जा सकता है। और यही वजह है की यह फल आज के समय में लोगों के व्यंजन में एक अलग जगह बनाया है। इस फल की सबसे खास बात यह है की इसमें विटामिन सी, ई, फाइबर, कॉपर, सोडियम, एंटी-ऑक्सीडेंट और पोटैशियम होता है ! सिर्फ यही नहीं वल्कि इसमें विटामिन सी की मात्रा संतरे से कई गुना ज्यादा पाया जाता है। इसके चलते यह हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को और भी अधिक मजबूत रखने में मदत करता है। कीवी की खेती ( Kiwi Fruit Farming ) करना आसान काम नहीं है।

कीवी की खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी और भूमि की तैयारी :

आपको अगर कीवी फल की खेती ( Kiwi Fruit Farming Business ) करना चाहते है, तो आपको ध्यान यह रखना है की ऐसे भूमि का चयन करें जिस भूमि में जल निकासी की व्यवस्था होती है क्यूंकि कीवी फ्रूट फार्मिंग बिज़नेस के लिए यह सबसे बेस्ट है। इसके अलावा, कीवी फल की खेती के लिए उपजाऊ, गहरी, अच्छी जल निकासी वाली, दोमट बलुई दोमट मिट्टी आवश्यक होती है ! कीवी फलों की लताओं के विकास के लिए सबसे आवश्यक है ऐसी भूमि की जहाँ पानी निकल सकता है। क्यूंकि कीवी फलों की लताएं अत्यधिक लवणीय मिट्टी के प्रति अधिक सहनशील होती हैं !

अगर आपके पास ऐसी भूमि है तो कीवी फल की खेती सफलतापूर्वक उगाया जा सकेगा। ऐसी भूमि जिसमें 0.25 पीपीएम से कम बोरान और साथ ही सोडियम लवण और 0.75 से कम विद्युत चालकता हो, जिसका पीएच 7.3 से कम हो। इन सब चीज़ों का भी आपको देख लेना है। एक बार जब ऐसी मिट्टी तैयार कर लेते है उसके बाद खाद और गड्ढे भरने का मिश्रण आपको ठीक दिसंबर के महीने में करना चाहिए !

और पढ़ें: strawberry farming business ideas : इस तरह होती है स्ट्रॉबेरी की खेती से ज़बरदस्त कमाइ

Kiwi Fruit Farming Business से जुड़ी कुछ खास बातें :

  • जैसे मैंने पहले आपको बताया की कीवी की खेती ( Kiwi Fruit Farming ) के लिए साल में जनवरी का महीना सबसे अच्छा होता है।
  • कीवी फल को चीन में चाइनीज आंवला कहा जाता है।
  • कीवी फल पौष्टिकता को देखते हुए लोग इसे बड़े चाव से खाते हैं।
  • आपको बता दूँ की भारत में सबसे पहले कीवी फल 1960 में बैंगलोर में लगाया गया था।
  • अगर आप गौर से देखेंगे तो आपको कीवी फल के नर और मादा पौधे अलग-अलग दिखने को मिलेंगे।
  • बीजू के पौधे पर नवोदित या ग्राफ्टिंग द्वारा पौधे तैयार किए जाते हैं।
  • आपको बता दूँ की अगर आप सही से बताए गए चीज़ों को इम्प्लीमेंट करते है कीवी की खेती के लिए तो इसके बदले इस बिज़नेस से आप लाखों रुपए कमा सकते है।

कीवी की खेती के लिए बुवाई और रोपण :

इसकी खेती में आपको एक बात ध्यान रखना है की एक पौधे से दूसरे पौधे की दुरी करीब 6 मीटर रखनी होती है ! और लाइन जो होगी उसकी दुरी एक लाइन से दूसरी लाइन की दुरी जो करीब 4 मीटर तक राखी जा सकती है। यह एक बैल पर पौधा है ! आपको ध्यान रखना है की नर और मादा दोनों को 2 तरह के पौधे लगाने होते हैं ! आपको बता दूँ की कीवी फ्रूट फार्मिंग बिज़नेस हर 9 मादा पौधों पर एक नर पौधा लगाया जाता है ! इस संदर्व में एक बात और जानकारी दे दूँ की आप एक हेक्टेयर में करीब 415 पौधे लगा सकते है।

Video Credit : BUSINESS FUNDA YouTube Channel

कीवी की खेती में पौधों की सिंचाई :

कीवी की खेती शुरू ( Start Kiwi Fruit Farming ) करने से पहले आपको एक और बात बता दूँ कीवी की पौधों को गर्मी के मौसम में सबसे अधिक पानी की आवश्यकता होती है ! गर्मी के मौसम में आपको 10 से 15 दिन में खेत में पानी देते रहना है ! यह बात हम सब जानते है की आप अगर अच्छी तरह से सिंचाई करते हैं, तो इसके बदले भूमि अधिक उपज होने की संभावना होती है। कीवी फ्रूट फार्मिंग में आपको शुरुआती दिनों में यानी सितंबर और अक्टूबर के महीने में सिंचाई करना ज्यादा जरूरी है !

कीवी की खेती में होने वाले रोग और इसके रोकथाम (Kiwi Fruit Farming Business ) :

कीवी के बागों में आपको ज्यादातर बीमारियां जैसे कॉलर रोट, रूट रोट, क्राउन रोट देखने को मिलेगी। यह सभी रोग मिट्टी पर फंगस के कारण होते हैं। यह रोग बरसात और गर्मी के मौसम में खासकर ज्यादा होती है। इस रोग से पत्तियां मुरझाकर आकार छोटी सी हो जाती है। इसके अलावा, शाखाएँ सूख जाती हैं और जड़ सड़ जाती है तथा पौधा नष्ट हो जाता है ! इस बीमारी से बचने के उपाय बस यही है की जड़ों में पानी नहीं भरना चाहिए ! इस बात का खास ध्यान रखें।

कीवी की फलों की तुड़ाई :

Small Business Idea कीवी फल ( Kiwi Fruit ) आमतौर पर अक्टूबर से दिसंबर महीने के बीच पकते है। इन महीनों के दौरान अन्य फल बहुत कम होते हैं। ध्यान रखे की कीवी फल को तोड़ते समय सख्त तोड़ना जरूरी होता है। और एक बात कीवी फल को दूर के बाजारों में भेजने के लिए पैकिंग ( Kiwi Fruit Packing ) की जरूरत होती है। कीवी की खेती में आपको फलों को एक महीने तक सामान्य वातावरण में और 4 महीने तक कोल्ड स्टोरेज में स्टोर कर सकते हैं, यह बात ध्यान में रखें। कोल्ड स्टोरेजमें रखने से यह सिकुड़ता नहीं है।

Increase your Friendship