Hindi Vyakran : सम्पूर्ण हिंदी व्याकरण

sampoorn Hindi Vyakaran

हैलो दोस्तो आज हम इस पोस्ट मे हिंदी व्याकरण ( Hindi Vyakaran ) के बारे में पूरी जानकारी जानेंगे । हिंदी भाषा बोलने या लिखने का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है हिंदी व्याकरण ( Hindi Grammar ). प्रत्येक व्यक्ति अपनी भावनाओं और विचारों को भाषा के माध्यम से ही व्यक्त करता है. हिंदी भाषा के स्वरूप को चार खंडों में बाट दिया गया है जैसे ध्वनि और वर्ण के रूप हैं मन के भाव और विचारों को बोलकर, लिखकर अथवा पढ़कर व्यक्त करना ही भाषा है संपूर्ण हिंदी व्याकरण और हिंदी भाषा को शुद्ध रूप में लिखने और बोलने संबंधी नियमों को जाने इस पोस्ट मे |

Contents show

Hindi Vyakaran : हिंदी व्याकरण की परिभाषा

व्याकरण हमे शुद्ध लिखना, बोलना एवं पढ़ना सिखाता है अर्थात भाषा के शुद्ध रूप की जानकारी हमें देता है. व्याकरण के माध्यम से हम भाषा की संरचना एवं उसके प्रयोग की जानकारी प्राप्त करते हैं ध्वनियों या वर्णों से शब्द तथा शब्दों से वाक्य बनते हैं|

हिंदी व्याकरण के भेद

हिंदी व्याकरण भाषा को बोलने के लिए तथा लिखने के नियम को कहते हैं भाषा में व्याकरण के चार भेद होते हैं जो इस प्रकार से हैं|

Serial Noव्याकरण के भेद
1वर्ण विचार
2शब्द विचार
3वाक्य विचार
4पद विचार

वर्ण विचार (Word vichar in Hindi)

व्याकरण में वर्ण विचार के अंतर्गत वर्णों के विषय में समुचित जानकारी मिलती है की कैसे लिखा जाता है, उसका उच्चारण कैसे किया जाए यह सभी बातें हम वर्ण विचार के माध्यम से ही सीखते हैं. इसके तीन प्रकार होते हैं -अक्षरों की परिभाषा, संयोग, उच्चारण, भेद उपभेद वर्णमाला का वर्णन होता है|

वर्ण विचार (Sound)

देवनागरी हिंदी भाषा की लिपि है बोलते समय हम जिन ध्वनियों का उच्चारण करते हैं वह वह ध्वनियों भाषा की सबसे छोटी इकाई होती है अतः हम कह सकते हैं कि अलग-अलग ध्वनि की वर्ण होती है इसमहै 52 वर्ण का समावेश है, इसे 4 भागों में बांटा गया है- 33 व्यंजन, 11 स्वर, एक अनुस्वार ( अ), एक विसर्ग (अ:) है साथ ही साथ दुगना व्यंजन ड़ और ढ़ तथा 4 संयुक्त व्यंजन क्ष,श्र,ज्ञ,त्त का समावेश है|

स्वर (Vowel)

Credit : A.K learn education

हिंदी में कुल 10 स्वर होते हैं कुछ स्वर की ध्वनि हश्र लंबाई होती है जैसे अ,इ,उ और कुछ शब्दों की ध्वनिया दीर्घ लंबाई होती जैसे अ,ई,ऊं,ओ,एक,औ आदि ।

हम स्वर को अलग-अलग प्रकार से बांट सकते हैं

मूल स्वर(Mul Swar)

एक ही स्वर से बने हुए शब्द को मूल शब्द कहते हैं

अ,इ,उ

संयुक्त स्वर (Sanyukt svar)

 दो मूल शब्दों को मिलाकर जो शब्द बनाया जाता है उसे संयुक्त स्वर कहते हैं

आ= अ + अ

ऐ =  उ +ए

और = अ+ ओ

एलोफोनिक स्वर (Alophonic svar)

कुछ व्यंजनों की जगह से दूसरे स्वर अपनी जगह ले लेते हैं तो उन्हें एलोफोनिक स्वर कहते हैं|

ए=हिंदी वर्णमाला में स्वर नहीं पाया जाता है यह इसका IPA है और अ येलोफोन है|

औ = अभी भी ह व्यंजन के आजू बाजू उ के साथ में होता है तथा उ तथा ओम का उच्चारण बदल जाता है का उच्चारण बदल जाता है तथा और करके उच्चारण लिया जाता है|

विदेशी स्वर (Videshi svar)

कुछ स्वर अंग्रेजी भाषाओं से भी मिले हैं इसीलिए उन्हें विदेशी सर कहते हैं जैसे ऐ आदि ।

व्यंजन (Consonant in Hindi)

आधुनिक हिंदी की वर्णमाला (Modern Hindi varnamala)।                

Credit : Hindi stories kahaniya

कवर्ग= इस शब्द को कंठ से बोला जाता है कि क क ख ख ग ग ग ड़

चवर्ग= यह शब्द तालु से बोले जाते हैं च छ ज ज झ

टवर्ग = यह शब्द मुरधा से बोले जाते हैं ट ठ ड़़ ड़ ढ ढ़ ण

तवर्ग = यह शब्द दातों से बोले जाते हैं त थ द ध न

शवर्ग =यह शब्दहवा छोड़ कर बोले जाते हैं श स ह स

शब्द विचार(Word Etymology)

हिंदी व्याकरण में दूसरे खंड का नाम शब्द विचार होता है इसके अंदर संधि विच्छेद भेद उप भेद परिभाषा निर्माण आदि संबंधों के विचार किए जाते हैं|

शब्द की परिभाषा (Shabd kya hai)

जब तक आप जान चुके हैं कि भाषा में शब्द का कितना विशेष स्थान है एक से अधिक वर्णों के सार्थक मेल को शब्द कहते हैं जैसे अध्यापिका, लालकिला और गुलाब आदि हिंदी व्याकरण का कुछ चीजों में समावेश है जैसे

  • अलंकार
  • रस
  • सर्वनाम
  • अबयय
  • संधि विच्छेद
  • पद परिचय
  • हिंदी वर्णमाला
  • हिंदी व्याकरण काव्य गंद रस
  • हिंदी व्याकरण शब्द शक्ति
  • छंद बिंब औ प्रतीक
  • हिंदी व्याकरण स्वर और व्यंजन
  • शब्द और पद के अंतरअक्षर की पूरी जानकारी
  • हिंदी व्याकरण जल घात
  • हिंदी व्याकरण सविनय
  • विलोम शब्द
  • पत्र लेखन
  • फीचर लेखन
  • विज्ञापन लेखन
  • मीडिया लेखन

हिंदी व्याकरण (Sampoorn hindi vyakran in hindi)

Credit : YouTube Channel Dk gupta online video for govt exam

संज्ञा किसे कहते हैं ( What is noun in Hindi)

संज्ञा का शाब्दिक अर्थ होता है नाम व्यक्ति, प्राणी, वास्तु, स्थान, भाव, गुण अवस्था सभी के कुछ न कुछ नाम होते हैं यह सभी नाम संज्ञा है किसी व्यक्ति ,वस्तु ,स्थान या भाव के नाम को संज्ञा कहते हैं|

जैसे=आम, संध्या, मुंबई, भैंस|

संज्ञा के तीन भेद होते हैं(three type of noun in Hindi)

Serial No Sangya ke bhed
1व्यक्तिवाचक संज्ञा
2जातिवाचक संज्ञा 
3भाववाचक संज्ञा       

 हिंदी व्याकरण:Sarvanam in Hindi 

(सर्वनाम)(Pronoun in Hindi )    

सर्वनाम किसे कहते हैं (What is pronoun in Hindi ):

सर्व+नाम यहां दो शब्द को मिलाकर सर्वनाम बना है यानी जो नाम किसी स्थान के बारे में बताता है सर्वनाम कहते हैं संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त सभी शब्द शब्द सर्वनाम कहलाते हैं

  • मोहन दसवीं कक्षा में पढ़ता है
  • मोहन घर जा रहा है

ऊपर दिया गया मोहन शब्द बार-बार दर्शा रहा है इसके कारण वाक्यों में अरुचिकर हो रहा है यदि हम मोहन शब्द को छोड़कर और किसी अन्य का उपयोग करते हैं तो उस वाक्य में गुरु रुचिकर रहता है|

हिंदी व्याकरण: (अव्यय)( Avaya in Hindi)

वे शब्द जिनके रूप, लिंग, वचन व पुरुष, काल, वाच्य आदि के प्रभाव से कोई परिवर्तन नहीं होता अव्यय या अविकारी शब्द कहलाते हैं|

उदाहरण: किंतु, इधर , क्यों,जब, इसलिए……

   अव्यय के 5भेद होते हैं

Serial No Avya ke bhed
1क्रिया विशेषण
2संबंध बोधक
3समुच्चयबोधक
4विस्मयादिबोधक
5निपात

हिंदी व्याकरण: पद परिचय (Pad Parichay kya hai)

वाक्य में हर एक शब्द को पद कहा जाता है|

हिंदी व्याकरण पद परिचय के संकेत

  • संज्ञा (Noun): जातिवाचक, व्यक्तिवाचक, भाववाचक|
  • लिंग (Gender): स्त्रीलिंग, पुरुष लिंग

हिंदी व्याकरण: विलोम शब्द (Antonyms in Hindi vilom shabd)

शब्द को अंग्रेजी में (Opposite) शब्द कहते हैं|

उदाहरण: सुबह – शाम

आहार – निराहार

हस्त – उदय

अग्नि – जल

अमीर – गरीब

 रात – दिन

हिंदी व्याकरण: मुहावरे 20 हिंदी मुहावरे (Limos in Hindi)

जो वाक्यांश अपने सामान अर्थ को छोड़कर विशेष अर्थ को व्यक्त करें उसे मुहावरा कहते हैं|

  • ंखें खुलना: (होश आना)
  • आंखों का तारा: (अति प्रिय)
  • अंगार उगलना: ( क्रोध बस कटु शब्द बोलना)
  • अक्ल का पुतला: (बुद्धिमान)
  • अपने मुंह मियां मिट्ठू बनना: (अपनी प्रशंसा अपने करना)
  • अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारना: (स्वयं विनाश को निमंत्रण देना)
  • अपने पैरो पर खड़ा होना: (स्वावलंबी होना)
  • आस्तीन का सांप: (कपटी मित्र)
  • आंसू पीकर रह जाना: (अति  शोक में भी चुप रह जाना )
  • आग बबूला होना: (क्रोध से भर जाना)
  • आसमान टूट पड़ना: (अचानक बड़ी विपत्ति का आना)
  • ईंट से ईंट जाना: (पूर्ण रूप से नष्ट करना)
  • ईद का चांद होना: (बहुत दिनों बाद द दिखना)
  • ईमान बेचना: (बेईमानी करना)
  • उंगली पर नाचना: (वश में करना)
  • एड़ी चोटी का जोर लगाना: (खूब दौड़-धूप करना)
  • कमर कसना: (किसी काम के लिए दृढ़ निश्चय होना)
  • कलेजा फटना: (बहुत दुख हो ना)
  • कसौटी पर कसना:‌ (परीक्षा लेना)
  • घाट घाट का पानी पीना: (बहुत अनुभव प्राप्त करना)

समास (Samas in Hindi)

समास का शाब्दिक अर्थ है संक्षिप्तीकरण या दो से अधिक शब्दों के मेल से जो नया सार्थक शब्द बनता है उसे समास कहते हैं. हर भाषा में शब्द के तीन विधियां हैं उपसर्गों तथा शब्द निर्माण प्रत्ययों तथा शब्द निर्माण तथा समाज द्वारा शब्द निर्माण दो या दो से अधिक शब्दों के मेल से साधक शब्द बनाने की प्रक्रिया समाज कहलाती है जैसे,

पर्ण +कुटी=पर्णकुटी

नेत्र+हीन=नेत्रहीन

समास के दो पद होते हैं

  • पूर्व पद
  • उत्तर पद

हिंदी व्याकरण क्लास 10(Hindi grammar for class 10th)

सीबीएसी क्लास10 हिंदी एवं अपठित बोध (Unseen passage)

अपठित गद्यांश                                      अपठित काव्यांश

CBSE class 10th हिंदी ए व्याकरण

काव्य वेद

वाच्य

पद परिचय

रस

सीबीएसी क्लास 10 हिंदी ए लेखन कौशल(Writing skills)

निबंध लेखन

पत्र लेखन

विज्ञापन लेखन

सीबीएसी क्लास 10 बी अपठित बोध (Unseen passages)

अपठित गद्यांश

अपठित काव्यांश

सीबीएसी क्लास 10 हिंदी बी व्याकरण

शब्द व पद में अंतर

रचना के आधार पर वाक्य रूपांतरण

समास

अशुद्धि शोधन

मुहावरे

सीबीएसी क्लास10 हिंदी बी लेखन कौशल

अनुच्छेद लेखन

पत्र लेखन

सूचना लेखन

संवाद लेखन

विज्ञापन लेखन

हिंदी व्याकरण क्लास 9(Hindi grammar for class 9th)

सीबीएसी क्लास 9ऐ अपठित बोध(Unseen passages)

अपठित गद्यांश

अपठित काव्यांश

सीबीएसी क्लास 9  हिंदी ए व्याकरण

समास                                                उपसर्ग

प्रत्यय

सीबीएसी क्लास9 ए कौशल हिंदी(Writing skills)

निबंध लेखन

पत्र लेखन

संवाद लेखन

सीबीएसई क्लास 9 हिंदी बी अपठित बोध (Unseen passages)

अपठित गद्यांश

अपठित काव्यांश

सीबीएसई क्लास 9 हिंदी बी हिंदी व्याकरण

वर्ण विच्छेद

नुक्ता

संधि

विराम चिन्ह

उपसर्ग  प्रत्यय

अनुस्वार एवं अनुनासिक

सीबीएससी क्लास 9 हिंदी बी लेखन कौशल(Writing skills)

अनुच्छेद लेखन

पत्र लेखन

चित्र वर्णन

संवाद लेखन

विज्ञापन लेखन

हिंदी व्याकरण (Hindi grammer for class 8)

 सीबीएसई क्लास 8 अपठित बोध (Writing skills)

अपठित पद्यांश

अपठित गद्यांश

सीबीएससी क्लास 8 हिंदी व्याकरण

भाषा , बोली, लिपि और व्याकरण

शब्द विचार

वर्ण विचार

लिंग

वचन

संज्ञा

कारक

सर्वनाम

विशेषण

काल

क्रिया

अविकारी शब्द अवयव

समास

संधि

पद परिचय

वाक्य संबंधी अशुद्धियां

वाक्य

अलंकार

मुहावरे व लोक पंक्तियां

शब्द भंडार

सीबीएससी क्लास 8 लेखन कौशल

निबंध लेखन

पत्र लेखन

अनुच्छेद लेखन

Conclusion

तो आशा करते हैं हम की हमारा ही लिखा हुआ आपको बहुत ही लाभदायक होगा अधिक से अधिक जानकारी हिंदी व्याकरण (hindi vyakran) में बताई गई है. हमारे ब्लॉग पर आपको हिंदी व्याकरण के बारे मे संपूर्ण जानकारी दिया गया है साथ ही साथ हमें आसान भाषा भी बताया गया है. हर किसी के अंदर कोई ना कोई गुड होता है बस थोड़ा पता चलने के लिए होती है”|

Increase your Friendship
नमस्कार दोस्तौ मेरा नाम गुलसन है .मे Infoinhindi का Auther हू . मे हिन्दी लेख लिख्ने मे रुचि रखता हू . दोस्तौ मै infoinhindi के माधयम से रोजाना नयी -नयी जानकारीया शेयर करता हू.

5 COMMENTS

  1. Everything is very open with a precise clarification of the challenges. It was really informative. Your website is useful. Thanks for sharing!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here