Nibandh lekhan कैसे लिखते है और Nibandh Lekhan का परिभाषा कया है

nibandh lekhan
nibandh lekhan, hindi nibandh lekhan , nibandh lekhan in hindi

निबंध शब्द दो शब्दों की सार्थक मेल से बना है – नि + बंध अर्थात अच्छी तरह बंधा हुआ निबंध में शब्द सीमा के अंतर्गत हम विषय अनुसार विचारों को प्रभावशाली ढंग से व्यक्त करते हैं निबंध के द्वारा लेखक आत्मीयता,वैयक्तिकता के सात विषय या प्रसंगों पर स्वयं की भाषा शैली में अपने भाव या विचार प्रकट करता है |

निबंध लेखन के अलग-अलग विषय

निबंध लेखन हम उस विषय पर लिखते हैं जिसे हम सुनते हैं देखते हैं और पढ़ते हैं |

निबंध लेखन के उधारन

Serial NoNibandh lekhan Examples
1धार्मिक त्योहार
2राष्ट्रीय त्योहार
3मौसम
4अलग-अलग प्रकार की समस्याएं के ऊपर निबनध

निबंध लेखन के चार अंग होते हैं |

SR NoNibhand lekhan ke ang Explanations
1शीर्षकनिबंध लेखन में हमेशा शीर्षक आकर्षण होना जरूरी होता है शीर्षक पढ़ने से लोगों में उत्सुकता ज्यादा होती है लोगों का मन लगता है |
2प्रस्तावनानिबंध लेखन में सबसे श्रेष्ठ प्रस्तावना होती है भूमि का नाम से भी इसे जाना जाता है निबंध लेखन में शुरुआत में हमें किसी भी प्रकार की स्तुति, श्लोक या उदाहरण से करते हैं तो उसका अलग ही प्रभाव पड़ता है |
3विषय विस्तारनिबंध के विषय में विस्तार का सर्व प्रमुख भाग होता है इसके अंदर 3 से 4 अनुच्छेदों को अलग-अलग पर विचार प्रकट किया जाता है निबंध लेखन में इसका संतुलन होना बहुत ही जरूरी है |
4उप संघारउप संघार निबंध के सबसे अंत में लिया जाता है पूरे निबंध में लिखी गई बातों को हम एक छोटे से अनुच्छेद में बता सकते हैं इसके अंदर हम संदेश, उपदेश, विचारों या कविता की पंक्ति में माध्यम से भी निबंध को समाप्त कर सकते हैं |

➡️Read Also: Sandesh lekhan for class 5,6,7,8,9,10

निबंध के प्रकार (Nibhandh lekhan ke prakar)

Credit : sonia gossain

निबंध तीन प्रकार के होते हैं (Nibandh lekhan Types)

वर्णनात्मक निबंध लेखन

  1.  वर्णनात्मक निबंध :- जब निबंधकार किसी स्थान या वस्तु का वर्णन इस प्रकार करता है कि पढ़ने वाले के सामने वह दृश्य सजीव हो उठे तो वह वर्णनात्मक निबंध कहलाता है |

प्राणी

  1. श्रीणी
  2. प्राप्ति स्थान
  3. आकार प्रकार
  4. स्वभाव
  5. विचित्रता
  6. उप संघार

मनुष्य

  1. परिचय
  2. प्राचीन इतिहास
  3. वंश
  4. परंपरा
  5. भाषा और सधी
  6. सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन

स्थान

  1. अवस्थिति
  2. नामकरण
  3. इतिहास
  4. जलवायु
  5. शिल्प
  6. व्यापार
  7. जाति धर्म
  8. दर्शनीय स्थान
  9. उप संघार

विवरणात्मक निबंध लेखन

जब निबंधों में अतीत का चित्रण रोचक शैली में प्रस्तुत किया जाता है तो वे विवरणात्मक निबंध कहलाते हैं |

ऐतिहासिक

  1. घटना का समय और स्थान
  2. ऐतिहासिक पृष्ठभूमि
  3. कारण और कलाफल
  4. इष्ट अनिष्ट और मंतव्य

आकस्मिक घटना

  1. परिचय
  2. तारीख
  3. स्थान और कारण
  4. विवरण और अंत
  5. फलाफल
  6. व्यक्ति और समाज
  7. कैसा प्रभाव हुआ
  8. विचारात्मक

विचारात्मक निबंध लेखन

विचारात्मक निबंध :- जब लेखक अपने मौलिक विचारों को तर्क बद्ध ढंग से प्रस्तुत करता है तो वह विचारात्मक निबंध कहलाते हैं |

  • अर्थ, परिभाषा, भूमिका
  • सार्वजनिक या सामाजिक, स्वाभाविक, कारण
  • तुलना
  • हानि और लाभ
  • प्रमाण
  • उप संघार

निबंध लिखते समय किन बातों का ध्यान मे रखना चाहिये

िबंध लिखते समय निम्नांकित बातों का ध्यान

  • निबंध के विषय में हमें पूरी जानकारी रखना चाहिए |
  • निबंध का आरंभ तथा अंत आकर्षक होना चाहिए |
  • रोचक, प्रभावशाली तथा सरल भाषा का प्रयोग करना चाहिए |
  • विषय तथा शब्द सीमा को ध्यान में रखकर निबंध लिखना चाहिए |
  • विराम चिन्ह का उचित प्रयोग करना चाहिए
  • एक ही बात को बार-बार नहीं दोहराना चाहिए |
  • निबंध को प्रभावशाली तथा रोचक बनाने के लिए दोहे, मुहावरों, लोकोक्तियों तथा सूक्तियो आदि का प्रयोग करना चाहिए |
  • निबंध की भाषा सरल होनी चाहिए |
  • निबंध के विराम चिन्हों पर खास ध्यान देना चाहिए  |
  • निबंध में छोटे-छोटे वाक्यों का प्रयोग करना चाहिए |

Conclusion

तो आशा करते है आप सभी को आज के हमारे इस लेख से काफी मदद मिली होगी । जिसमे अपने जाना की निबंध लेखन (Nibandh lekhan) किसे कहते है ? निबंध लेखन के कितने भेद या प्रकार है? निबंध लिखते समय निम्नांकित बातों का ध्यान आदि । अगर आपको हमारा आज का यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करे ।

Increase your Friendship
नमस्कार दोस्तौ मेरा नाम गुलसन है .मे Infoinhindi का Auther हू . मे हिन्दी लेख लिख्ने मे रुचि रखता हू . दोस्तौ मै infoinhindi के माधयम से रोजाना नयी -नयी जानकारीया शेयर करता हू.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here