Full Form

BPO Full form in hindi and English

BPO Full form in hindi: दोस्तों आज मै आप सभी लोगों को इस पोस्ट मे बीपीओ के बारे में सम्पूर्ण जानकारी point to point बताऊंगा कि Bpo Kya Hai, दोस्तो आज हम इस पोस्ट में जानेंगे कि कॉल सेंटर क्या है या Bpo kya hota hai, बीपीओ की पूरा नाम क्या है। यदि आप कॉलसेंटर में जॉब करना चाहते हैं तब आप इस पोस्ट के साथ अंत तक बना रहे व ध्यान से पढ़े ।

मैं इस पोस्ट में आपको Bpo के बारे में पूरी जानकारी सरल शब्दों में बताऊंगा, किस तरह से आप इसमें जॉब ले सकते हैं, एलिजिबिलिटी क्या होनी चाहिए, कितना सैलरी मिलता है, काम क्या रहता है यह सारी जानकारी मैं आपको इस पोस्ट के माध्यम से दूंगा।

कुछ स्टूडेंट होते हैं जो अपनी स्टडी के साथ साथ ही पैसा भी कामना चाहते हैं  अर्थात पार्ट टाइम जॉब करना चाहते हैं तो उनके लिए कॉल सेंटर जॉब बेस्ट ऑप्शन हो सकता है। साथ ही साथ कुछ स्टूडेंट्स ऐसे भी हैं जो अपनी स्टडी पर फोकस तो करते हैं साथ में जो छुट्टियां या एग्जाम के बाद वह पार्ट टाइम जॉब या फुलटाइम जॉब सर्च करते हैं,

तो उसके लिए भी यह BPO बेस्ट ऑप्शन है। उस टाइमिंग के लिए तो उनके लिए भी पार्ट टाइम जॉब मैं कॉल सेंटर जॉब बेस्ट रहता है, कम वर्क व अच्छी इनकम हो जाता है, इसके बारे में मैं आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताऊंगा  कि किस तरह से इसमें आप जॉब प्राप्त कर सकते है व अच्छा मंथली सैलरी मिल सकता है।

कॉलसेंटर या बीपीओ क्या है?

कॉलसेंटर जॉब को बीपीओ कहा जाता है, BPO Full form : Business Process Outsourcing जिसे हम कॉलसेंटर या बीपीओ शर्ट शब्द में कह सकते हैं,  जब हमें किसी तरह कोई समस्या होता है तब किसी भी तरह की जैसे कि फोन में, हमें सिम में प्रॉब्लम आ रहा है या बैंक से रिलेटेड कोई प्रॉब्लम है या अन्य कोई प्रॉब्लम है तब हम उससे रिलेटेड फील्ड या कंपनी के कस्टमर केयर को कॉल करते हैं जो हमारी समस्या का समाधान करता है।

आज के समय मे अधिकतर कंपनीयां अपने कस्टमर्स को बेस्ट फैसिलिटी प्रोवाइड करने के लिए फ्री कस्टमर केयर सर्विस प्रोवाइड करता हैं जिस में कोई भी कस्टमर कभी भी कॉल करके अपनी प्रॉब्लम सॉल्व करा  सकता हैं या फिर किसी तरह का सलाह ले सकते हैं। यही कॉलसेंटर जॉब या कॉलसेंटर सर्विस कहलाता है, आपको किसी भी तरह का परेशानी हो, apps, games, व्हाट्सएप्प, आदि के बारे में तो BPO के माध्यम से अपना हल निकाल सकते है।

BPO Full Form In hindi and english

BPO Full form in Hindiबिजनस प्रोसेस आउटसौरसिंग
BPO Full form Business process Outsourcing
BPO Full Form In Chemistry(रसायन विज्ञान) में बीपीओ का फुल फॉर्म Benzoyl Peroxide होता है।
BPO Full Form In Musical groupsसंगीत समूह में बीपीओ का फुल फॉर्म Berlin Philharmonic Orchestra होता है।
BPO Full Form In Financeवित्त में बीपीओ का फुल फॉर्म Bank Payment Obligation होता है।

बीपीओ के प्रकार ( Types of BPO in Hindi )

वैसे तो कॉल सेंटर 2 टाइप्स के होते हैं इनबांड और आउटबांड कॉल सेंटर। इनबांड कॉल सेंटर में जो कस्टमर रहता है वो खुद कॉल करते हैं और अपनी जो प्रॉब्लम रहती है उसके लिए सॉल्व करने के लिए कस्टमर केयर नो पर कॉल करते हैं व दुसरा होता है आउटबांड इसमें कस्टमर केयर कस्टमर को कॉल करता हैं आप नोटिस किये होंगे हमें जब प्रॉब्लम होती है तो हम कस्टमर केयर को कॉल करते हैं और अपनी प्रॉब्लम को सॉल्व कराते हैं या हमें वह सहायता प्रदान करता हैं हमारी प्रॉब्लम को सॉल्व करने में।

यदि आप देखें होंगे बहुत बार कंपनी की साइड से हमको कभी कभी फोन आता है ये जो कॉल आती हैं कंपनी साइड से वो कॉल सेंटर से आती है कस्टमर केयर से ही एक कॉल हमको की जाती है जैसे कि उनकी जो भी फैसिलिटी या फिर कोई नया पॉलिसी आता है तब वे लोग एडवरटाइजमेंट फोन के माध्यम से देते है व उसके बारे में हमें जानकारी दी जाती है।

बीपीओ में जॉब लेने के लिए क्या करना होगा?

यदि आप जॉब करने के बारे में सोच रहे है और जॉब सर्च कर रहे है ऐसे में आप BPO में जॉब कर सकते है, उसके लिए आपको क्या करना होगा,  सबसे पहले न्यूजपेपर में कॉलसेंटर के लिए वेकेंसी कॉल सेंटर जॉब के लिए वैकेंसी समय समय पर रोजगार पत्र में आते रहता है, इसलिए आप जॉब विज्ञापन निकाले जाते हैं तो आप न्यूज पेपर से जानकारी प्राप्त कर सकते है।

वैसे ही आप गूगल पर भी सर्च कर सकते हैं, गूगल पर भी कंपनी आज अपना जॉब वैकेंसीज अपलोड किया रहता हैं और उसके लिए आवेदन आमंत्रित करता हैं, आप इसका विज्ञापन चेक करके आगे का  नोटिफिकेशन देख सकते है साथ ही आप उस कम्पनी के BPO recruitment के लिए Apply कर सकते है, साथ ही गूगल में विभिन्न कंपनी अपनी नोटिफिकेशन जारी करती है वहाँ से आप देख सकते है।

गूगल में वहां से आपको नॉलेज मिल जाएगी, कौन सी कंपनी में कितना पोस्ट के लिए वेकेंसी निकला है,   इसके अलावा कॉलसेंटर में जॉब लेने के लिए कुछ स्कील हैं जो आपको आना जरूरी है जैसे कि हिंदी इंग्लिश का नॉलेज बात करने में बेहतरीन होना चाहिए  हिंदी और इंग्लिश दोनों में अगर आपकी कमांड अच्छा है तो आपको प्रिफरेंस दिया जाएगा, व आपको जॉब में तुरंत रख सकते है।

इसके साथ ही अगर आपको अलग भाषा में कमांड हो जो लोकल अधिक यूज़  होता है फिर भी आपको जॉब में रख लिया जाता है क्योंकि लोकल लैंगुएज में भी कस्टमर अपनी बात रखता है व समस्या का समाधान मांगता है। इन सबके साथ आपको कंप्यूटर नॉलेज होना चाहिए क्योंकि कॉलसेंटर मजबूर करता है की वहाँ  वर्क करना है तो आपको कंप्यूटर की अच्छी नॉलेज होनी चाहिए टाइपिंग स्पीड आपकी बेस्ट से बेस्ट होना चाहिए व साथ ही आपका गुड कम्युनिकेशन स्किल आपकी बेहतरीन  होना चाहिए.

ये कुछ स्किल्स हैं जो अगर आपके अंदर हैं तो कॉल सेंटर में जॉब मिलना आपको सरल हो जाता है, इन सबकी जानकारी होने पर आप एक बेहतरीन BOP एम्प्लॉई बन सकते है व कस्टमर का मदद आसानी से कर पाएंगे।

बीपीओ जॉब के लिए एलिजिबिलटी क्या होना चाइये?

सर्वप्रथम आपकी एलिजिबिलटी देखी जाए तो आपके पास 12th या फिर ग्रेजुएशन की डिग्री कोई भी स्ट्रीम से होना चाहिए, साथ ही BOP के लिए जरूरी नहीं है कि आप किसी पर्टिकुलर सब्जेक्ट से आपका ग्रेजुएशन हो, आपके पास किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन की डिग्री है तो आप कॉलसेंटर की जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

आपका सलेक्शन वहाँ इंटरव्यू से होता है, ऐसे में आपको अपने डिग्री के लिए कोई चिंता करने की जरूरत नही है, यदि आप टेलीफोन या फिर किसी विषय (Hindi Or English, Local Language) मे डिप्लोमा किये है तो आप BOP जॉब के लिए योग्य है। साथ ही आप अपने बारे में इंटरव्यू में  कुछ बताएं या आप कॉल सेंटर में काम क्यों करना चाहते हैं या कॉल सेंटर के बारे में आपके क्या विचार हैं या जो कंपनी में आप आये हैं वो आपसे पूछ सकते हैं कि आप हमारी कंपनी के लिए ही वर्क क्यों करना चाहते हैं.

तो इसी तरह से सवाल  है जो आपको इंटरव्यू में पूछे जाते है, इन सबका जॉब आप अपने योग्यता व अनुभव के आधार पर डिप्लोमेटिक न देकर नैचरली देने का प्रयास करें तभी आपका सेलेक्शन डिसाइड होता है।

बीपीओ के लिए ट्रेनिंग

यदि आपका सेलेक्शन BOP ल लिए हो जाता है, तब आपको कुछ दिनों या महीने का ट्रेनिंग मिलता है, आपके लिए एक स्क्रिप्ट तैयार किया जाएगा। पहले आपको BPO में  वर्क करने के  लिए ट्रेन्ड किया जाता है.

आपको यह सिखाया जाता है कि कस्टमर से किस तरह से बात करनी है कुछ वर्ड्स के बारे में बताया जाता हैं जैसे कि धन्यवाद, आपका दिन, सुप्रभात आपका स्वागत है मैं आपकी क्या मदद कर सकता है?  कुछ ऐसा शब्द आपको सिखाए जाते हैं व बताए जाते हैं कि किस तरह से कस्टमर से डील या बात करना है, बात करने का तरीका आपको सिखाया जाता है, कस्टमर के साथ आपको एक स्ट्रिक्ट बात करना होता है, जो स्क्रिप्ट तैयार की जाती है उसके एकॉर्डिंग ही आपको बोलने को कहा जाता है, जिसे कस्टमर को आप सन्तुष्ट कर सकें।

जब आपका ट्रेनिंग कंप्लीट हो जाता है तब आपको कॉल पर बात करने को कहा जाता है और आपकी जो कॉल है उसे ऑडिटर भी सुनता है, व रिव्यु करता हैं कि आप ठीक तरह से बात कर रहे हैं या नहीं, उसके अनुसार आपको किस तरह का कॉल लेना है और किस तरह का नही थी डिसाइड होता है, यदि आप मे कोई कमी होती है तो उसको ऑडिटर उसमें सुधार करते हैं या उन कमियों को दूर कराया जाता हो और आपको और अच्छे से ट्रेंड करने को बोला जाता है.

जिससे किसी तरह का दिक्कत न हो, इस तरह आपको ट्रेन किया जाता है, जिससे आप सरल से सरल व कठिन से कठिन समय मे कस्टमर से बात व डील कर सकें।

बीपीओ जॉब की सैलरी

हम देखते हैं सैलरी क्या रहती है तो सैलरी हम फिक्स नहीं बता सकते कि सैलरी क्या रहती है क्योंकि अलग अलग कंपनियां अपने अलग अलग सैलरी है वो फिक्स करती है। फ्रेशर्स के लिए स्टार्टिंग सैलरी देखें तो 8 हजार से 20 हजार तक का मान के चलें। कंपनी के अकॉर्डिंग रहता है मैं फिर से कहूँगी कंपनी पर डिपेंड करता है वो कितना देती हैं। कई कंपनियां हैं जो 8 हजार से भी कम देती है कॉलसेंटर पर तो ये आप किस कंपनी में जॉब कर रहे हैं ये उस पर डिपेंड करेगा मैं यहां पर एक एवरेज निकालकर आपको दे रही हूं 8 हजार से 20 हजार रहता है।

बीपीओ जॉब की सैलरी

हम सुनते है या फिर देखते है, bop अक्सर प्राइवेट कंपनी ही चलाती है, इसमें सैलरी शुरुआती समय मे कम होती है जैसे जैसे आपका एक्सपीरिएंस होते जाते है वैसे वैसे आपका सैलरी बढ़ते जाएगा। फ्रेशर्स का सैलरी 8 हजार से 15 हजार के।मध्य होती है वही सीनियर का 60 हजार तक मंथली सैलरी होता है। आपका सैलरी कंपनी पर ही निर्भर करता है कि आप कौन से कंपनी में काम कर रहे है, मेट्रो सिटी पर भी निर्भर करता है वहाँ अधिक सैलरी मिलता है।

Conclusion

दोस्तौ आज के पोस्ट मे हमने Bpo Kya hai, BPO ka full form Kya hai , BPO full form in hindi के बारे मे डिटेल मै बताया है. जिसे आपको पढने के बाद Bpo के बारे मे सभी जानकारी मिल जायेगी अगर आप को कोई भी doubt है तोह आप हमे कमेंट कर के पुछ सकते है. हम आपकी सहयता करेंगे . आप लोगो को हमरे साथ अन्त तक बने रहने के लिये धन्येवाद

Increase your Friendship
Published by
Amit Chandravanshi

Recent Posts

  • Instagram Names

Top 3100+ Indian stylish attitude names for Instagram for girls.

Nowadays everyone uses Instagram it doesn't Matter if He is a Boy or a Girl.…

2 days ago
  • Full Form

SSC क्या है? SSC का Full Form क्या है के hindi मे.

हेल्लो दोस्तौ आप सभी लोगो का स्वागत है हमरे वेबसाइट Infoinhindi मे. आज मै ऐक…

1 week ago
  • Full Form

रीप क्या होता है, Rip शब्द कि सभी जानकारी.

RIP Full Form In Hindi : हेल्लो दोस्तो आप सभी लोगो का हमरे वेबसाइट infoinhindi…

1 week ago
  • Full Form

Teacher Full Form in hindi

हेल्लो दोस्तौ आप सभी लोगो का स्वागत है आज के ऐक नयी जानकारी मे, दोस्तौ…

1 week ago
  • Full Form

BBA KYA hai, BBA kaise kare , BBA Full Form In Hindi

हेल्लो दोस्तौ स्वागत है आप सभी लोगो का हमारे वेबसाइट Infoinhindi मे. मै आज ऐक…

1 week ago
  • Instagram bio ideas

200+ Best Instagram Bio For Boys । Top Stylish And Attitude Bio For instagram

Hello Friends If You Are Searching on Google For Best Instagram Bio For Boys, Stylish,…

2 weeks ago